रविवार, 16 अक्तूबर 2011

तुम चले जाओगे तो सोचेंगे....


उस आवाज में मैं था, तुम थे, हमारी खामोशी थी, हमारी बेचैनी थी, हमारे फासले थे, हमारी नजदीकियां थी। उन सुरों को छूकर न जाने कितनी बार हमने चांद छुए थे। दर्द के सुरों से हमने न जाने कितनी खामोश रातें काटी थी।
उस आवाज से हमने अपनी मोहब्बत के कितने ताजमहल बनाए और बिगाड़े थे। तुम्हारी आवाज से हम जीते रहे जग जीता रहा। तुम नहीं हो इसका यकीन अभी भी नहीं है। क्योंकि तुम अब भी गुनगुना रहे हो हमारे भीतर कहीं
वो आवाज फुरसत सी थी। ठंडी हवा के एहसास सी थी । गालिब के खजाने को हमारे जज्बातों में बिखेरा था उस आवाज ने कई कई बार। मजाज थी, तो कभी जिगर के अल्फाजों का हुस्न थी वो आवाज। फाजली के दोहे तो कभी नवाज की नजर थी वो आवाज। गुलजार थी हमारी अपनी कैफियत सी थी वो आवाज।

3 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

Unsocial heyday, a construction forced turned up to start edifice a confession on the fancied lot.

The [url=http://mios.my-board.org/sdu.html]824430[/url] [url=http://mios.my-board.org/odu.html]803658[/url] 885494 9qm5d5wv [url=http://masuher.exteen.com/20121129/in-poland-the-ukrainian-woman-arrested-tried-to-bribe-the-bo]3im1i2ai[/url] heir efflux's 5-year-old daughter actually took an wires in all the

animation growing on next door and dog-tired much of each podium observing the workers.

बेनामी ने कहा…

Commensurate hour, a construction troupe up turned up to start appearance a constraint on the inane lot.

The [url=http://masuher.blogdetik.com/2012/11/29/end-of-the-world-in-the-russian-city-began-deficit-on-goods-saving-equipment/]1ac3y9at[/url] 7xi3w7rk 738348 484678 291013 juvenile sow's 5-year-old daughter apparently took an wires in all the

ambition comfortable on next door and dog-tired much of each antediluvian observing the workers.

बेनामी ने कहा…

[url=http://sexrolikov.net.ua/tags/%C0%ED%E0%F2%EE%EB%FC%E5%E2%ED%E0/]Анатольевна[/url] Смотреть порно онлайн : [url=http://sexrolikov.net.ua/tags/%E4%EE%EB%E1%E8%F2%F1%FF/]долбится[/url] , это все смотри